শুধু কলকাতাতেই করোনা আক্রান্ত ১ লাখ ছুঁইছুঁই, বাংলায় মৃত্যু পেরোল ৮ হাজার

First Published Nov 23, 2020, 9:34 AM IST

বাংলায় জমজমাটি দুর্গা পুজো, কালী পুজোর পর জগদ্বাত্রী পুজো। সোমবার নবমী। করোনা আবহে এবার পুজোর আয়োজন কম হলেও দর্শনার্থী নেহাত কম নয়। তাই ঠাকুর দেখতে বেরিয়ে সামাজিক দূরত্ব বেশিরভাগ সময় খেয়াল থাকছে না। যেটা আচমকা সংক্রমণ বাড়ার পরে আশঙ্কা বাড়িয়েছে। রাজ্যে এই মুহূর্তে মোট আক্রান্ত ৪৫৬,৩৬১ জন। তার উপর সোমবার শহর ও শহরতলিতে একলাফে পারদ নেমেছে অনেকটাই। অর্থাৎ পরিস্থিতি করোনা সংক্রমণের অনুকূলে। যা নিয়ে রীতিমত চিন্তা রয়েছে রাজ্য। রবিবারের স্বাস্থ্য ভবনের কোভিড বুলেটিন অনুযায়ী সংক্রমণে কী অবস্থা কলকাতা তথা রাজ্য়ের, এবার দেখে নেওয়া যাক।
 

<p>covid</p>

covid

<p>ट्रंप ने वाल्टर रीड आर्मी मेडिकल सेंटर से व्हाइट हाउस लौटने के बाद एक ट्विटर वीडियो में 7 अक्टूबर को इलाज की इस विधि की प्रशंसा की थी।</p>

ट्रंप ने वाल्टर रीड आर्मी मेडिकल सेंटर से व्हाइट हाउस लौटने के बाद एक ट्विटर वीडियो में 7 अक्टूबर को इलाज की इस विधि की प्रशंसा की थी।

<p>ट्रंप ने ट्विटर पर लिखा था कि "वे इसे सिर्फ चिकित्सीय पद्धति कहते हैं, लेकिन मेरे लिए ऐसा नहीं है। "इसने मुझे बेहतर बना दिया, ठीक है। मैं इसे एक इलाज कहता हूं''।</p>

ट्रंप ने ट्विटर पर लिखा था कि "वे इसे सिर्फ चिकित्सीय पद्धति कहते हैं, लेकिन मेरे लिए ऐसा नहीं है। "इसने मुझे बेहतर बना दिया, ठीक है। मैं इसे एक इलाज कहता हूं''।

<p><br />
खाद्य और औषधि विभाग (एफडीए) ने लिखा, "कासिरिवामब और इमदेविमाब उन रोगियों के लिए अधिकृत नहीं हैं, जिन्हें कोरोना के कारण अस्पताल में भर्ती कराया गया है या उन्हें ऑक्सीजन थेरेपी की आवश्यकता है। " कोरोना के कारण अस्पताल में भर्ती मरीजों में कैसिरिविमाब और इमदेविमैब उपचार का लाभ नहीं मिला है।<br />
&nbsp;</p>


खाद्य और औषधि विभाग (एफडीए) ने लिखा, "कासिरिवामब और इमदेविमाब उन रोगियों के लिए अधिकृत नहीं हैं, जिन्हें कोरोना के कारण अस्पताल में भर्ती कराया गया है या उन्हें ऑक्सीजन थेरेपी की आवश्यकता है। " कोरोना के कारण अस्पताल में भर्ती मरीजों में कैसिरिविमाब और इमदेविमैब उपचार का लाभ नहीं मिला है।
 

<p><strong>TREATMENT COST</strong><br />
<strong>Report says:</strong> "Arriving at a sustainable pricing model to treat Covid patients could have averted many deaths. Private hospitals are charging exorbitant medical fees that were beyond the reach of many. The Ministry to constantly make efforts to minimise the out-of-pocket expenditure of patients due to Covid and update the details of the beneficiaries on the PMJAY scheme's IT System"</p>

TREATMENT COST
Report says: "Arriving at a sustainable pricing model to treat Covid patients could have averted many deaths. Private hospitals are charging exorbitant medical fees that were beyond the reach of many. The Ministry to constantly make efforts to minimise the out-of-pocket expenditure of patients due to Covid and update the details of the beneficiaries on the PMJAY scheme's IT System"

Today's Poll

একসঙ্গে কতজন প্লেয়ারের সঙ্গে খেলতে পছন্দ করেন